Final Report of Project Samarth-2, An initiative by Team Samarth of Bharat Scouts and Guides Himachal Pradesh, India.

 

Report Samarth Project

 

जवाहरलाल नेहरु राजकीय महाविद्यालय हरिपुर (मनाली) के रोवर्स व् रेंजर्स यूनिट के द्वारा कुल्लू शहर के स्लम एरिया (कुल्लू बस स्टेंड के सामने झुग्गी झोंपड़ी के लिए) के लिए आरम्भ किये गये प्रोजेक्ट “समर्थ-II”, जिसे हिमालयन रोवर्स ओपन यूनिट, पार्वती रेंजर्स ओपन यूनिट व् कुल्लू कॉलेज के कुछ बच्चों के सहयोग से 19 फरवरी 2017 को शुरू किया गया।

 

दिनांक 19 मार्च 2017:- 

आज के दिन 15 रोवर्स व् रेंजर्स ने स्लम प्रोजेक्ट “समर्थ-II” के तेहत सुबह 10.30 बजे से दोपहर 3 बजे तक कक्षा 1 से लेकर कक्षा 9 तक के बच्चों को पढाया I

 दिनांक 26 मार्च 2017 :- “कपड़ा बैंक के तहत सामान का वितरण”

इस दिन सुबह 10 बजे से 2 बजे तक सुचारू रूप से स्लम एरिया के बच्चों को पढाया गया और दोपहर 2 बजे, रोवर्स व् रेंजर्स द्वारा अपने अपने गावं से इक्कट्ठा किये गये सामान को “ कपड़ा बैंक “ के तहत जिनमे जूते, चप्पल, स्कूल बैग, बेबी वॉकर, कपडे, बर्तन इत्यादि को जवाहरलाल नेहरु राजकीय महाविद्यालय के प्राचार्य श्री शमशेर सिंह जी के नेतृत्व में, प्रोजेक्ट डायरेक्टर ज्योति चरन ( प्रवक्ता इतिहास व् रोवर लीडर राजकीय महाविद्यालय हरिपुर ) एवं प्रोजेक्ट समर्थ-II से जुड़े सभी रोवर्स व् रेंजर्स ने स्लम एरिया में जाकर वितरित किया I

 

 

दिनांक 2 अप्रैल 2017 :- “पोलियो भगायो अभियान” 

आज के दिन की शुरुआत हमने “पोलियो भगायो अभियान” के साथ की I सुबह 10 बजे आंगनवाडी कार्यकर्ता नीलम जी व् हेल्थ वर्कर तनवी जी को विशेष आग्रह से हमने “रामा सामुदायिक भवन, लोअर ढालपुर “, जहाँ हम स्लम एरिया के बच्चों को पढ़ाते हैं, आमंत्रित किया एवं बच्चों को 2 बूँद जिंदगी की पिलाई और 5 रोवर्स व् रेंजर्स इनके साथ स्लम एरिया में गये एवं वहां पर भी बच्चों को पोलियो की दवाई पिलाई और साथ ही साथ 3 बजे तक इन बच्चों को पढ़ाया भी गया I

 

 

दिनांक 9 अप्रैल 2017 :-  “बच्चों को कापियां व् पेंसिल का वितरण”

श्री मान जी , चूँकि सभी बच्चों के वार्षिक परिणाम घोषित हो चुके थे अतः हमने इन सभी बच्चों को उनके क्लास के विषयों के हिसाब से कापियां व् पेंसिल वितरित की गयीं I और यह हमारे लिए ख़ुशी की बात है कि साहिल कक्षा 5 का हमारा छात्र अपनी कक्षा में दूसरे स्थान में आया है और अब वो कक्षा 6 में है I आज के दिन 13 रोवर्स व् रेंजर्स ने बच्चों को मानसिक व् शारीरिक खेलों का आयोजन किया I

 

 

दिनांक 16 अप्रैल 2017 :- “ बच्चों को स्काउटिंग की जानकारी देना “ 

आज के दिन श्री रोहित ठाकुर, सहायक राज्य आयोजन आयुक्त (स्काउट विंग) शिमला के द्वारा स्लम एरिया के बच्चों को स्काउटिंग की जानकारी दी गयी I श्री रोहित ठाकुर जो कुल्लू जिला से ही संबंध रखते हैं , वे 4 रविवार इन बच्चों को न केवल स्काउटिंग सिखाएँगे बल्कि इन बच्चों के लिए राज्य मुख्यालय शिमला (स्काउट व् गाइड) से इनका पंजीकरण करके इन्हें स्काउटिंग की वर्दी भी निःशुल्क दिलवाएंगे I 

 

 

6.  दिनांक 23 अप्रैल 2017:- कपड़ा बैंक

कपड़ा बैंक योजना के तहत हरिपुर महाविद्यालय के रोवर्स व् रेंजर्स के द्वारा घरों से इक्कट्ठा किये गये सामान जिसमे कपडे, जूते , चप्पल व् बर्तन इत्यादि को स्लम एरिया में जाकर बांटा गया I आज के दिन लगभग 1 जीप सामान इन लोगों में दिया गया I इसके अतिरिक्त प्रोजेक्ट समर्थ –II के अंतर्गत पढ़ाने एवं अन्य गतिविधियाँ भी होती रहीI 

 

 

7.  दिनांक 30 अप्रैल 2017 :- कापी ,पेंसिल व् पेपर बोर्ड का वितरण 

इस दिन सुबह 10 बजे से 2 बजे तक सुचारू रूप से स्लम एरिया के बच्चों को पढाया गया I इस दिन बहुत भारी बारिश के वावजूद बच्चों एवं रोवर्स व् रेंजर्स ने अपनी प्रतिबद्धता दिखाई I आज के दिन बच्चों को कापी, पेंसिल, पेपर बोर्ड आदि दिए गये I

 

8. दिनांक 7 मई 2017 :- बी पी 6 की दी गयी जानकारी  

7 मई को स्लम एरिया के बच्चों को सामान्य पढाई के अतिरिक्त अब स्काउटिंग की ओर भी प्रेरित किया गया तथा शारीरिक व्यायाम की कक्षाएं भी आरम्भ की गयीं I बच्चों को स्काउटिंग के जन्मदाता श्री बेडन पॉवेल के द्वारा बताई गयी 6 एक्सरसाइज जो बी.पी.6 के नाम से जानी जाती है , इन्हें बच्चों को सिखाया गया I

 

9. दिनांक 14 मई 2017 :- शरीरिक व्यायाम

चूँकि इन दिनों शादियों का दौर आरम्भ था जिसके कारण हमें इन बच्चों को पढ़ाने के लिए “रामा सामुदायिक भवन” में जगह पिछले 2 हफ्ते से नही मिल रही थी , इसलिए हमने कक्षाएं खुले आकाश में आरम्भ कर दी I आज के दिन पढाई के साथ साथ शारीरिक व्यायाम भी किया गया I 

10. दिनांक 21 मई 2017 :- स्लम एरिया में किया गया सफाई का कार्य 

 आज के दिन भी सुचारू रूप से बच्चों की कक्षाएं ली गयी तथा साथ ही जिस जगह पर बच्चों की कक्षाएं लगायी जा रही थी, उस जगह की सफाई का कार्य किया गया | वहां बिखरे हुए कांच के टुकड़ों और शीशे की बोतलों को उठाया गया तथा भांग के पोधों को उखाड़ा गया ताकि बच्चों को पढने और खेलने के लिए साफ जगह मिल सके |

 

 

 

11. दिनांक 28 मई 2017 : “ क्रिकेट मैच का आयोजन ”

आज के दिन बच्चों के मनोरंजन के लिए क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया | खेल के अतिरिक्त बच्चों को सुचारू रूप से पढाया गया | आज की मुख्या कक्षा में बी पी सिक्स की परीक्षा ली गयी , जिसमे विजय प्रथम , अक्षय तथा राहुल दूसरे स्थान पर और आलम ने तीसरा स्थान हासिल किया |

 

 

12. 4 जून 2017 : “ स्काउटिंग की जानकारी प्रदान करना”

आज की मुख्य कक्षा में बच्चों को स्काउट प्रतिज्ञा , झंडा गीत और स्काउट प्रार्थना सिखायी गयी । साथ ही उन्हें स्काउट चिन्ह के बारे में भी जानकारी दी गयी । आज बच्चों की स्काउटिंग की परीक्षाएं ली गयी। जिसमे विजय ने प्रथम स्थान प्राप्त किया । इस के अतिरिक्त बच्चों की सुचारू रूप से कक्षायें ली गयी ।

 

 

13. 11 जून 2017 : वर्ल्ड स्काउट ब्यूरो,एशिया पेसिफिक रीजन के डायरेक्टर के द्वारा , प्रोजेक्ट समर्थ का औचक निरीक्षण 

आज श्री प्रसन्ना जी ( वर्ल्ड स्काउट ब्यूरो,एशिया पेसिफिक रीजन के डायरेक्टर (कार्यालय : फिलिपीन) के द्वारा , प्रोजेक्ट समर्थ का औचक निरीक्षण किया गया I श्री प्रसन्ना जी ने स्लम एरिया के बच्चों के साथ पूरा दिन व्यतीत किया एवं उनसे प्रोजेक्ट समर्थ की जानकारी ली, साथ ही उन्होंने रोवर्स व् रेंजर्स से भी इस सन्दर्भ में विमर्श किया I श्री प्रसन्ना जी के साथ , राज्य मुख्यालय शिमला से सह राज्य संगठन आयुक्त   कुमारी स्प्रीहा तथा श्री पंकज गुप्ता जी (स्काउट मास्टर) भी थे I उन्होंने प्रोजेक्ट समर्थ के द्वारा किये गये कार्यों की प्रशंसा की एवं भविष्य के लिए अपनी शुभकामनाएं भी दी I

14. 18 जून 2017 : “ खेल खेल में स्वच्छता का ज्ञान “

स्लम एरिया में पिछले 4 महीने से चल रहे समर्थ प्रोजेक्ट के अंतर्गत बच्चों को शारीरिक स्वच्छता के बारे में सिखाया गया। जिसमे बच्चों को खेल खेल में हाथ धोना तथा सही तरीके से ब्रश करना सिखाया गया और साथ ही सभी बच्चों को ब्रश तथा टूथपेस्ट वितरित किये गए।

15. 25 जून 2017; “ एक दिवसीय स्वास्थ्य शिविर का आयोजन ”

डाक्टर संजीव ठाकुर जी के सहयोग से स्लम एरिया में एक दिवसीय हेल्थ कैंप का आयोजन किया, जहाँ न केवल स्लम एरिया के सभी लोगों का स्वस्थ्य जांचा बल्कि निःशुल्क दवाईयां भी कार सेवा दल एवं डाक्टर संजीव ठाकुर जी ( संजीव क्लिनिक रामशिला,कुल्लू) के द्वारा उपलब्ध करवाई गयी I

 

16. दिनांक 2 जुलाई  2017:- भांग उखाड़ो अभियान एवं राज्य मुख्यालय द्वारा समर्थ का निरिक्षण I

इस दिन राज्य मुख्यालय से श्री निरंजन मिन्हास जी State Organizing  Commissioner (scouts), श्री दुर्गा दास (State Training Commissioner ,Scouts ) इत्यादि द्वारा प्रोजेक्ट समर्थ का निरिक्षण किया गया एवं राष्ट्रपति स्काउट्स की तैयारी में आये लगभग 200 छात्रों को भी समर्थ के कार्यों से अवगत करवाया गया एवं राज्य मुख्यालय द्वारा इस प्रोजेक्ट की सराहना की गयी एवं 2500 रुपए का चंदा भी दिया गया और इन बच्चों को निःशुल्क स्काउटिंग की वर्दी देने का आश्वासन दिया I समर्थ में सामान्य पढाई एवं अन्य गतिविधियों के अलावा इस दिन स्लम एरिया में उगी भांग को भी सभी सदस्यों के द्वारा उखाड़ा गया I

 

17. दिनांक 9 जुलाई 2017 :- सामान्य गतिविधियाँ 

इस दिन सामान्य रूप से दिन भर बच्चों की पढाई एवं कवितायेँ पढाई गई I

 

18. दिनांक 16 जुलाई 2017 :- भारी बारिश के बावजूद समर्थ की क्लासें तम्बू में लगी रही I 

इस दिन भारी बारिश के कारण हम पढाई के अतिरिक्त कुछ भी नही करवा सके I चूँकि हमारे पास कोई भी कमरा न होने के कारण हमने सूखी जगह चुन कर तरपाल के नीचे सामान्य रूप से पढाई का कार्य करवाया I इस दिन स्लम एरिया के बच्चों की संख्या कम थी I

 

19. दिनांक 23 जुलाई 2017 :- पढाई के साथ साथ स्थानीय लोक नृत्य बच्चों को सीखाया गयाI

23 जुलाई 2017 को पढाई के साथ साथ अब स्लम एरिया के बच्चों को स्थानीय लोकनृत्य को सीखाने का कार्य भी आरम्भ किया गया एवं उन्हें कुल्लू की संस्कृति से भी अवगत करवाया गया I ताकि यह बच्चे भी स्कूलों में स्थानीय बच्चों के साथ अच्छा तालमेल बना सकें I

 

20. दिनांक 30 जुलाई 2017 :- स्काउटिंग की शिक्षा एवं बी पी 6 का अभ्यास   

आज के दिन बच्चों को स्काउटिंग के प्रति प्रेरित करते हुए उन्हें स्काउटिंग की शिक्षा प्रदान की गयी एवं शारीरिक तंदुरुस्ती के लिए बी पी 6 नामक स्काउटिंग के व्यायाम को सीखाया गया I

 

 

21. दिनांक  6 अगस्त 2017 : “ हम ऐसी खीर बनायेंगे, सारे मिल कर खायेंगे ”

6 अगस्त को सामान्य पढाई तथा अन्य गतिविधियाँ के साथ साथ  सावन के महीने को मनाया गया तथा सम्पूरण स्लम एरिया के बच्चों के साथ मिलकर खीर खायी एवं “ हम ऐसी खीर बनायेंगे सारे मिलकर खायेंगे “ नामक बाल गीत को सीखाया I इस दिन टीम समर्थ के प्रत्येक रोवर्स व् रेंजर्स ने अपने अपने घर से 2 किलो खीर बनाकर इन बच्चों में बांटी एवं बच्चों की खुशियों सांझा किया I

 

 

22. 13 अगस्त 2017 : “ कोटरूपी भूस्खलन के बावजूद पढाई को जारी रखा गया ”

13 अगस्त का दिन टीम समर्थ के लिए सबसे दुखद दिन था क्योंकि इस दिन सुबह 6 बजे से ही पूरी टीम बहुत परेशान  थी I हमारी टीम के 2 रोवर्स धर्मशाला में PG में एडमिशन लेने के बाद रात को चंबा – मनाली बस से घर वापिस आ रहे थे लेकिन दुर्भाग्यवश उनका यह सफ़र कभी न ख़त्म होने वाला एवं जिन्दगी का अंतिम सफ़र बन गया I सुबह से हि अटकलों का दौर शुरू हो गया था और टीम उनके सलामती की दुआएं मांग रही थी लेकिन दोपहर 12 बजे तक एक बुरी खबर ने समर्थ टीम को झकजोर दिया बावजूद इसके समर्थ ने भारी मन से अपने दिन के कार्यों को पूरा किया I

 

23. 20 अगस्त 2017 : “ रोवर पवन व् खूब राम को विनम्र श्रधांजलि एवं पढाई, हेंडीक्राफ्ट व् गाने की प्रेक्टिस “

 

आज सबसे पहले मंडी के कोटरुपी भूसख्लन में असमय मृत्यु को प्राप्त सभी लोगों की आत्मा की शान्ति के लिए प्रार्थना की गयी तथा समर्थ टीम के दिवंगत रोवर्स पवन व् खूब राम को विनम्र श्रधान्जली देकर याद किया I इसी दिन हम सबने मिलकर इस प्रोजेक्ट को दिवंगत रोवर्स को समर्पित करने का निश्चय किया I इसके बाद बच्चों को पढाया गया , हेंडीक्राफ्ट की जानकारी दी गयी और दशहरे में प्रस्तुति देने के लिए बच्चों को प्रेरित करते हुए उन्हें गाना गाने का अभ्यास करवाया गया I

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

24. दिनांक 27 अगस्त 2017:- स्लम एरिया में फूलों की क्यारियां बनाना एवं स्वच्छता का सन्देश  I

आज प्रोजेक्ट समर्थ की टीम के 18 रोवर्स व रेंजर्स ने स्लम एरिया में जाकर फूलों के लिए क्यारियां बनाई तथा स्लम एरिया के लोगों को भी आसपास की साफ सफाई रखने के लिए प्रेरित किया और क्यारियां बनाने में भी उन्हें साथ लिया गया । यह कार्य सुबह 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक किया गया । इसके साथ ही उन्हें स्वतच्छता के प्रति भी जागरूक किया गया 

25.  दिनांक 3 सितम्बर 2017 :- हेंडीक्राफ्ट एवं लैंप शेड्स बनाने की तकनीक बच्चों को सीखाई गयी I 

इस दिन बच्चों को हेंडीक्राफ्ट सप्ताह के अंतर्गत लैंप शेड्स बनाने की कला को सीखाया गया और साथ ही सामान्य पढाई का कार्य भी चलता रहा I

 

मान्यवर, यह हर्ष का विषय है कि प्रोजेक्ट SAMARTH-II को अब सम्पूरण विश्व के स्काउट्स देख रहे हैं और अब इसे प्रोजेक्ट BROWNSEA के अंतर्गत लिया गया है I BROWNSEA के अंतर्गत विश्व के प्रमुख स्काउट्स प्रोजेक्ट्स को अंतर्राष्ट्रीय संस्था द्वारा धन भी मुहैया करवाया जाता है लेकिन हमारा उद्देश्य इस धन की प्राप्ति नहीं है बल्कि हम अपने काम को विश्व स्काउटिंग के सामने प्रस्तुत करना चाहते हैं I प्रोजेक्ट समर्थ-II , भारत के 2 प्रमुख प्रोजेक्टों में से एक है I जो हिमाचल ही नही बल्कि भारत स्काउट एवं गाइड के लिए गौरव की बात है I

 

 

 

 

26. दिनांक 10 सितम्बर 2017 :- सामान्य पढाई के साथ साथ MUSICAL PLAY की तैयारी I

इस दिन सुबह 10 बजे से बच्चों को पढाया भी गया एवं दशहरे के लिए प्रस्तुति के लिए बच्चों को तैयार भी करवाया गया I श्रीमान जी , यह समर्थ टीम का एक स्वपन था जिसे केवल आपके सहयोग से ही पूरा किया जा सका I हम इसके लिए आपके सदैव आभारी रहेंगे I

 

27. दिनांक 17 सितम्बर 2017 :- छोटे बच्चों को पढाई एवं बड़े बच्चों को नाटक का अभ्यास करवाया गया I

17 सितम्बर 2017 को पढाई के साथ साथ अब स्लम एरिया के बच्चों को नाटक का जमकर अभ्यास शुरू किया गया इस नाटक को श्री सन्नी वर्मा जी एवं ज्योति चरण के निर्देशन में सीखाया गया I

 

 

28. दिनांक 24- 30 सितम्बर 2017 :- MUSICAL PLAY की रिकॉर्डिंग और अभ्यास I 

 

वास्तव में हम पिछले 7 दिनों से ही स्लम एरिया में नाटक की रिकॉर्डिंग में व्यस्त रहे एवं इसमें निभाये जाने वाले सभी किरदारों की आवाजों की रिकॉर्डिंग एवं डायलोग को रिकॉर्ड करते रहे, इसके साथ ही पढाई एवं अभ्यास का काम भी निरंतर जारी रहा I

 

 

 

29. दिनांक  1 अक्टूबर 2017 : “ दशहरे में प्रस्तुति ”

आज टीम समर्थ ने जिला प्रशासन के सहयोग से अपनी महत्वकांक्षी योजना को पूरा किया I टीम समर्थ अपने जिला प्रमुख (भारत स्काउट व् गाइड  ) श्री युनुस जी का तहे दिल से शुक्रिया अदा करती है I आपके सहयोग के बिना हमारी यह महत्वाकांक्षी योजना कभी भी साकार नही हो सकती थी I

 

30. 2 अक्टूबर 2017 : “ स्लम एरिया में दशहरे की प्रस्तुति का जश्न  ”

टीम समर्थ ने आज बच्चों की खुशिओं को आपस में बांटा एवं जिला प्रशासन का धन्यवाद किया I आपके लिए प्रस्तुति की लाइव विडियो नीचे लिंक में प्रेषित है I

 

टीम समर्थ द्वारा दशहरे में (7 दिन तक ) कार सेवा दल के सहयोग से SOLID WASTE की अनोखी प्रदशनी लगायी गयी एवं जनता की सुविधा के लिए टीम समर्थ ने लाकर रूम में निःशुल्क सेवा दी I जिसमे लोगों का सामान रखा गया त्ताकी वे मेले में आराम से घूम सके I

 

 

                 31. 15 अक्टूबर 2017 :  IInd HANDICRAFT WORKSHOP  “ CONVERTING SOLID WASTE INTO CREATIVE ART “

टीम समर्थ ने एक नई पहल करते हुए व्यर्थ के कचरे से आकर्षक वस्तुओं को बनाने के लिए स्लम एरिया में हेंडीक्राफ्ट कार्यशाला को आरम्भ किया , इस कला को हमे NGO HEALING HIMALAYA के संस्थापक श्री प्रदीप सांगवान ने सीखय था जिसे हमने अब इन बच्चों को सीखाना आरम्भ किया I यह वर्कशॉप एक महीने के लिए लगायी गयी I

 

             32. 19 अक्टूबर 2017: दीपावली का त्यौहार नये अंदाज में I

 

समर्थ टीम ने दीपावली स्लम एरिया में जाकर बच्चों तथा अग्निशमन विभाग के कर्मचारियों के साथ मनाई I

 

33. 22 अक्टूबर 2017 : पढाई, हेंडीक्राफ्ट एवं रोजगार के अवसर I

सर्दियां शुरू होने से पहले स्लम एरिया के बच्चों को बांटे कपडे, दूध, अखरोट ।समर्थ प्रोजेक्ट के तहत इस रविवार स्लम एरिया के बच्चों को सर्दियां शुरू होने से पहले गर्म कपड़े बांटे गये। साथ ही में अंशुल मिश्रा जी के सहयोग से सभी बच्चों को दूध के पैकेट्स बांटे गए तथा गीता जी ने इन बच्चों के लिए अखरोट भिजवाए। इस रविवार बच्चों को शीशे की बोतल पर पेंटिंग की बारीकियों को सीखाया गया। स्वच्छ भारत अभियान के तहत स्लम एरिया के बच्चे बेकार बोतलों को इकठ्ठा कर उन बोतलों पर पेंटिंग कर आय के स्त्रोत को उत्प्न्न कर रहे है।

 

 

 

34. 30 अक्टूबर 2017 : जर्मन स्काउट्स दम्पति श्री निकोलस एवं श्रीमती मैके द्वारा समर्थ का दौरा I

इस दिन जर्मनी से भारत भ्रमण पर निकले स्काउट दम्पति ने प्रोजेक्ट समर्थ के बच्चों के साथ एक दिन व्यतीत किया एवं प्रोजेक्ट के कार्यों की सराहना की I इन दम्पति को भारत स्काउट एवं गाइड के राष्ट्रीय मुख्यालय से विशेष तौर पर इस प्रोजेक्ट को देखने के लिए भेजा गया था I

 

दिनांक 5 नवम्बर 2017:- टीम समर्थ ने झुगी झोपडी वालों को बताया मतदान  का महत्व बताया  I

टीम समर्थ द्वारा इस रविवार रोवर्स रेंजेर्स को दो टीमों में विभाजित किया गया जिस में रेंजर लीडर गीता  जी अगुवाई बाली टीम द्वारा स्लम एरिया में जा कर मतदान के  महत्व के बारे में जागरूक किया  गया वहीं दूसरी टीम ने सहायक प्रोजेक्ट निदेशक रोवर लीडर हिम्मत सिंह की अगुवाई वाली टीम ने प्रोजेक्ट के अंतर्गत आने बाले बच्चों को हेंडीक्राफ्ट के अंतर्गत ग्लासपेंटिंग सिखाई ।

 

 

 35. दिनांक 12 नवम्बर  2017 :- बार्षिक परीक्षाओं की तेयारियां स्लम एरिया के बच्चों को करवाई गयीI

इस दिन बच्चों की बार्षिक परीक्षाओं को मध्यनजर रखते हुए पढाई का एक शेडूल बनाया गया और हर विषय पर विशेष ध्यान रखते हुए बच्चों  की पढाई के कार्य का विभाजन किया गया I

 

 

36. दिनांक 19 नवम्बर  2017 :एक महीने की कड़ी मेहनत बाद हेंडीक्राफ्ट वर्कशॉप समाप्त I

इस दिन पिछले एक महीने से कड़ी मेहनत कर रहे बच्चों के साथ चल रहे हेंडीक्राफ्ट वर्कशॉप यानि शीशे की बोतलों पर  कलाकारी अब बच्चे सीख चुके थे I पिछले एक महीने से चल रहे एस कार्य को सम्पन्न करते हुए बच्चों ने 15 बोतलें तेयार की जबकि इस कार्य को करने में आर्थिक तौर पर हमारी मदद श्री राजपाल सिंह द्वारा की गयी I

 

 

 

37. दिनांक 26नवम्बर 2017 :- जिला अध्यक्ष भारत स्काउट्स एवम गाइड्स व् उपायुक्त जिला कुल्लू श्री  युनुस जी को सोंपी सितम्बर व् अक्तूबर महीने की रिपोर्ट I

इस दिन प्रोजेक्ट डायरेक्टर द्वारा सितम्बर व् अक्टूबर माह की रिपोर्ट उपायुक्त कुल्लू श्री युनुस जी को सोंपी गयी  I साथ ही में इस दिन भी बच्चों की पढाई के कार्य को सुचारू रूप से चलये रखा गया और 6 रोवर्स रेंजेर्स द्वारा स्लम एरिया जा कर बच्चों की पढ़ाई में मदद की गयी I

 

 

38. दिनांक 3 दिसम्बर  2017 :- स्लम एरिया के बच्चों को स्काउटिंग विषय की जानकारी दी गयी I

इस दिन के कार्य को सबसे पहले तीन भागों में विभाजित किया गया फिर पहली टीम द्वारा बच्चों को स्काउटिंग के बारे में बताया गया जिसमे स्काउटिंग विश्व में 1907 से शुरू होने से अभी तक के बारे में जानकारी दी गयी I दूसरी टीम द्वारा बच्चों को हर रविवार की भांति पढाया गया जबकि तीसरी टीम द्वारा बच्चों को स्काउटिंग माइनर गेम्स, जिसमे स्काउटिंग से सम्बंधित गेम्स बच्चों को करवाई गयी I

 

 

39. दिनांक  10 दिसम्बर 2017 :- बच्चों को बताई स्काउटिंग में काम आने बाली गांठें I

स्काउटिंग पाठ्यक्रम के अंतर्गत सभी स्काउट्स गाइड्स को  गांठो के बारे में बताया व् सिखाया जाता है गांठे जो की समान्य जीवन में भी बहुत उपयोगी रहती है , इसी को मध्यनजर रखते हुए रोवर लीडर हिम्मत सिंह जी की अगुवाई में गांठों के सिलेबस के बारे में बचों को सिखाया गया I सभी बच्चों द्वारा गांठों को लगा कर भी प्रदर्शित किया गया 

 

 

40. 24 दिसम्बर 2017 : सामान्य रूप से पढ़ाई एवं मनोरंजक गतिविधियाँ I

 

मान्यवर , मेरी टीम ने मेरी अनुपस्थिति में भी अपने कार्यों को बखूवी किया एवं पढ़ाई के साथ साथ अन्य मनोरंजक गतिविधियाँ भी करवाई I  

 

41. 31 दिसम्बर2017: नये वर्ष की शुरवात से पहले बांटे बच्चों  में मिठाई व् कपड़े वितरित किये गये  I

वर्ष 2017 का अंतिम दिन और अंतिम रविवार नया वर्ष शुरू होने से एक दिन पहले टीम समर्थ द्वारा स्लम एरिया के  बच्चों को मिठाईयां, खिलोने  व् कपड़े बाँट कर नये वर्ष का स्वागत किया गया Iइसके अलावा नये साल के स्वागत में  बच्चों द्वारा मनोरंजक कार्यक्रम किए गयेI बच्चों के लिए कपड़े व् खिलोने आदि उपलब्ध करवाने में इस बार हमारी सहायता राजकीय महाविद्यालय हरिपुर के अंग्रेजी की प्रोफेसर लीना वैद्य द्वारा की गयी I 

 

 

42. दिनांक 6 जनवरी 2018 : रोवेरिंग के हुए 100 साल पुरे , बच्चों संग मनायी 100वीं वर्षगाँठ I I

 टीम समर्थ द्वारा स्काउटिंग की 100वीं वर्षगाँठ स्लम एरिया में मनाई I समारोह के दिन स्लम एरिया में स्काउटिंग सिलेबस आधारित एक प्रश्नोतरी प्रतियोगिता करवाई गयी I इस प्रश्नोतरी प्रतियोगिता में सातवीं कक्षा में अध्ययनरत पायल व् लक्ष्मी की टीम द्वारा पहला स्थान हासिल किया गया ऑफ़ विजेता टीम को गिफ्ट्स भी दिए गये I  

 

 

 

43. 14 जनवरी2018 : स्लम एरिया में बच्चों संग मनाया लोहड़ी का त्यौहार I

      टीम समर्थ द्वारा लोहड़ी का त्यौहार भी स्लम एरिया में बच्चों संग मनाया गया I इस त्यौहार को हर त्योहर की भांति बच्चों को मिठाई व् मूंगफली बाँट कर किया गया I

 

44. दिनांक 28 जनवरी 2018 :- पोलियो ड्रॉप्स पिलाने के लिए स्लम एरिया में चलाया जागरूकता अभियान I

टीमसमर्थ ने 28 जनवरी यानी पोलियो रविवार को स्लम एरिया में घर घर जाकर जागरूकता अभियान चलाया वहीं बच्चों को पोलियो पिलाने के लिए नज़दीक के पोलियो केंद्र भी ले गए । इस रविवार जब टीम ने एरिया का दौरा किया तो पता चला वहां किसी को भी पोलियो रविवार होने की जानकारी नही थी तो रेंजर लीडर गीता की अगुवाई में टीम ने इन बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई ।

 

 

45. दिनांक 4 फरबरी :-  विश्व कैंसर दिवस पर भी चलाया स्लम एरिया में जागरूकता अभियान ।

4 फ़रवरी यानी कैंसर दिवस, टीम समर्थ द्वारा कैंसर दिवस के अवसर पर भी कैंसर व उनसे बचाव के तरीकों पर जागरूकता अभियान चलाया । यह अभियान स्लमएरिया के लोगों को इकठ्ठा कर के उन्हें बताया गया कि विश्व मे किस प्रकार कैंसर जैसी बीमारी एक विकराल रूप धारण कर रही है । बच्चों को हर रविवार की भांति उनके पढ़ाई को ऊपर रखते हुए एग्जाम की तैयारी करवाई गई ।

 

 

46. दिनांक 11 फरबरी :- टीम समर्थ को स्लम एरिया में कार्य करते हुए एक वर्ष पूरा।

महोदय टीम समर्थ ने फरवरी माह में ही 2017 को स्लम एरिया में अपनाय हप्रोजेक्ट समर्थ  नाम से शुरू किया था जो कि फरवरी माह में एक वर्ष का समय हो गया है । 11 फरवरी को टीम द्वारा बच्चों के साथ पिछले एक वर्ष के कार्यों के बारे में चर्चा की गई एवं भावी रूपरेखा तैयार की गयी  ।

 

 

47. दिनांक 18 फरवरी 2018:भारत  स्काउट्स  एवम  गाइड्स  द्वारा आयोजित  राज्यस्तरीय  रोवर  रेंजर  मूट में लिया भाग।

टीम का कोई भी सदस्य 18 फरवरी को स्लम एरिया में जाने में नाकाम रहा क्योंकि हमारी पूरी टीम भारत स्काउट्स एवम गाइड्स हिमाचल प्रदेश द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय रोवर रेंजर मूट के लिए राजकीय महाविद्यालय धर्मशाला गए हुए थे।

 

48. दिनांक 4 मार्च 2018: 6 मार्च से होने वाले बच्चों की परीक्षाओं व एक साल पूरे होने पर सालाना कार्यक्रम मनाने की तैयारी।

प्रोजेक्ट के अंतर्गत आने बाले बच्चों की परीक्षाएं 6 मार्च से शुरू होने जा रही थी तो 4 मार्च को टीम द्वारा उसी की अंतिम तैयारियों पर जोर दिया गया बच्चों को आखिरी बार मुश्किल विषयों को किस प्रकार पड़ा जाए, उस पर टिप्स दिए गए । जबकि टीम द्वारा यह निर्णय किया गया कि बच्चों की बार्षिक परीक्षाएं खत्म होने के बाद टीम एक साल पूरे होने की खुशी में एक बार्षिक कार्यक्रम करेगी ।

 

 

49. दिनांक11, 18, 25 मार्च 2018: बच्चों की परीक्षाओं के कारण नही लग पाई कक्षाएं।

 

बच्चों की बार्षिक परीक्षाओं के कारण 11,18, 25 मार्च को कक्षाएँ नही लग पाई जब कि प्रोजेक्ट को भी कुछ समय के लिए रोक दिया गया ।जब कि टीम के सदस्य समय समय पर इन दिनों में भी बच्चों को परीक्षाओं से सम्बंधित तैयारियों में लगे रहे ।

 

50. दिनांक 1 अप्रैल 2018: प्रोजेक्ट के एक साल पूरे होने का मनाया जश्न।

 

टीम द्वारा प्रोजेक्ट के एक साल पूरे होने व बच्चों के परीक्षा  खत्म होने की खुशी में 1 अप्रैल को जश्न का आयोजन किया एवं बच्चों द्वारा देश भक्ति गीतों पर कार्यक्रम दिए गए ।कार्यक्रम में अतिथि के तौर पर स्लमएरिया के बच्चे ही मौजू दरहे । टीम द्वारा वैसे तो निर्णय लिया गया था कि इस प्रोजेक्ट को एक साल बाद समाप्त कर दिया जाएगा, पर बच्चों का स्नेह व लगाव देखते हुए यह निर्णय लिया गया कि इस प्रोजेक्ट को अब टीम समर्थ एक और साल चलायेगी ।आने बाले एक साल में टीम का लक्ष्य बच्चों को स्काउटिंग से जोड़ना व स्काउटिंग सिलेबस के अनुसार बच्चों का विकास मुख्य लक्ष्य होग

 

51. दिनांक 8 अप्रैल 2018: पार्वती रेंगेर्स अपने  टीम संभालेगी अगले एक साल समर्थ प्रोजेक्ट का कार्य भार ।

 

समर्थ प्रोजेक्ट को एक ओर साल बढ़ाने का निर्णय तो ले लिया गया था परंतु उसके साथ यह भी प्रोजेक्ट डायरेक्टर ज्योति चरन द्वारा यह  निर्णय लिया गया कि अब रेंजर्स (लड़कियां) इस प्रोजेक्ट को  1 चलाएंगी  अतः  पार्वती रेंजर्स ओपन यूनिट की टीम तथा हरिपुर कॉलेज की रेंजर्स की टीम  अब आने बाले एक साल इस प्रोजेक्ट को संभालेगी ।  रेंजर्स लीडर मिस गीता इनकी लीडर होगीं एवम यह प्रोजेक्ट डायरेक्टर ज्योति चरन के निर्देशन में काम करेंगी I

 

 

52. दिनाँक 15 अप्रैल 2018: हिमाचल दिवस पर बताया बच्चों को हिमाचल का गौरवमयी इतिहास ।

पार्वती रेंजर्स टीम द्वारा कार्य भार सम्भालते ही हिमाचल दिवस के अवसर पर बच्चों को हिमाचल प्रदेश की स्थापना से पूर्ण राज्य के दर्जे तक और अभी तक के इतिहास की जानकारी दीग यी । टीम द्वारा बच्चों को स्काउटिंग में मुख्यतः प्रयोग होने वाले पेट्रोल या टोली सिस्टम में विभाजित किया गया । सभी टोलियों को हिमाचल प्रदेश पर निबन्ध लिखने को कहा गया। साथ ही साथ उनकी पढ़ाई के कार्य को नए सिरे से शुरू कर दिया गया है।

53. यह अभी तक के मुख्य कार्यों का विवरण था इस के बाद टीम द्वारा निर्णय लिया गया कि सभी बच्चे आत्म निर्भर हो गए हैं तो आने वाले समय मे एक निरीक्षण समय समय पर किया जाएगा जो कि किया जा रहा है।

साथ मे दिसंबर 2018 को प्रोजेक्ट समाप्ति की घोषणा के साथ निरीक्षण कार्य को जारी रखा गया है।

 

 

 

Jyoti Charan

Project Director

Team Samarth

 

 

Avatar Jyoti Charan
from India, 1 bulan yang lalu

Periode Proyek

Started On
Sunday, February 19, 2017
Ended On
Saturday, December 15, 2018

Jumlah peserta

73

Lamanya pelayanan

291270

Topics

Adults in Scouting
Youth Programme
Youth Engagement
Scouting and Humanitarian Action
Better World Framework

SDG

Are you sure you want to delete this?
Welcome to Scout.org! We use cookies on this website to enhance your experience.To learn more about our Cookies Policy go here!
By continuing to use our website, you are giving us your consent to use cookies.